पीसीओडी क्या है यह कितनी हानिकारक है What is PCOD, how harmful it is

Sharing is caring!

महिलओं (Women) में दोनों साइड अंडाशय  (both side Ovaries) होते है जिसमें हर महीने कुछ अंडे(Eggs) बनते है यह अंडे ट्यूब्स (Tubes) में जाते है और फिर गर्भाशय(Uterus) में लेकिन हमारे अंडाशय (Ovaries) में अंडों के साथ कुछ छोटी छोटी गांठे(cyst) बन जाती है जिससे महिलाओ में बहुत से दिक्कतें आती है जैसे पीरियड्स(Periods) कम या ज्यादा आना (irregular) ,चहरे ,छाती ,पैरो पर बाल आना आवाज भारी होना ,गर्भधारण न कर पाना या बार बार गर्भपात ( miscarriage) हो जाना लगातार वजन बढ़ना (Weight gain) जैसे लक्षण दिखाई देते है कई बार पेट के निचले हिस्से में दर्द भी होता है इसे अल्ट्रासाउंड के माध्यम से देखा जा सकता है

तेजी से बढ़ती बीमारी
पीसीओडी की समस्या महिलाओं में काफी तेजी से बढ़ रही है। नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ ऐंड रिसर्च के अनुसार हमारे देश में करीब 10 प्रतिशत महिला आबादी पीसीओडी की समस्या से जूझ रही है। इस समस्या के कारण बॉडी में हॉर्मोनल डिसबैलंस हो जाता है। इससे चेहरे पर रोए और शरीर के दूसरे अंगों पर घने बाल उगने लगते हैं। ये इस समस्या के सामान्य लक्षण हैं।

पीसीओडी के कारण Reasons for PCOD in hindi- 

यह हार्मोन (Hormone) के असंतुलन या अनुवांशिकता (Imbalance or geneticism) के कारण हो सकता है किसी भी लड़की(Woman) के परिवार (Family) में यदि यह समस्या है तो उसे भी हो सकती है एंड्रोजन (androgen) पुरुष हार्मोन है जो महिलाओ में भी बनता है एंड्रोजन (androgen) के अधिक बनने के कारण अंडा ओवरी में अविकसित (Undeveloped in egg ovary) रह जाता है जो वह बाहर नहीं जा पाता जिससे वो गांठ बन जाता है
शरीर में इंसुलिन ज्यादा होने के कारण एंड्रोजन कि मात्रा बढ़ जाती है

पीसीओडी के उपचार Treatment of PCOD in hindi- 

पीसीओडी को खत्म करने के लिए महिलाओ को वजन कम (Weight Loss) करने के लिए योगा(Yoga) , धीरे-धीरे चलना(Jogging) करने की सलहा दी जाती है खाने में बिंस, फल(fruits), अख़रोट(walnuts) ,बादाम(Almonds) और भी बहुत से नट्स हरी सब्जियां (green vegitables) चोकर युक्त आटा खाने की सलाह दी जाती है

तेल(Oil) , मसाले ,जंक फूड ,मैदा खाने से मना किया जाता है Refuse to eat oil, spices, junk food, flour(Maida)

जिन्हे बच्चा नहीं चाहिए उन्हें दवाइयां दी जाती है जिससे पुरुष(Man) हार्मोन कम बनता है और जिन्हे बच्चा चाहिए उन्हें ओवुलेशन बढ़ाने की दवाएं दी जाती है

Anjali

मेरा नाम अंजली पाल है, मैंने डीयू (दिल्ली विश्वविद्यालय) से स्नातक किया है, मैं दिल्ली से हूं। मेरा मनना है – “जानकारी जितनी हो भी कम हो, कम ही रहती है”